समस्याओं का निराकरण अब हम करेंगे !

एम एस कॉलिज के छात्र-छात्राओं ने साक्षरता और स्वच्छता की अलख जगाने की शपथ ली !

1
355

सहारनपुर : “आम तौर पर युवावर्ग पर आरोप लगाया जाता है कि वह समाज के प्रति अपने उत्तरदायित्वों को समझते नहीं हैं, कर्तव्यनिष्ठ नहीं हैं, फैशन और मोबाइल के फेर में रहते हैं पर ऐसे आरोप लगाने वाले यह भूल जाते हैं कि युवावर्ग को सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है और यह जिम्मेदारी पहली पीढ़ी की ही है।  युवावर्ग में उपलब्ध ऊर्जा का सही उपयोग किया जाये तो वह समाज हित में असंभव से दिखाई पड़ने वाले काम को संभव कर सकता है और यदि इस ऊर्जा का दुरुपयोग शुरु कर दिया जाये या युवावर्ग को पथभ्रष्ट कर दिया जाये तो विनाश को भी आमंत्रण दिया जा सकता है।“ ये भावना लेकर महाराज सिंह कालिज में चल रही राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रोग्राम अधिकारी डा. दिनकर मलिक व डा. पूनम यादव ने लगभग 65 स्वयंसेवकों का एक 7 दिवसीय शिविर सहारनपुर में जनता रोड पर स्थित खुर्द गांव में आयोजित किया।

महाराज सिंह कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई क्रमांक 1 व 2 के युवा छात्र-छात्राओं से मिल कर एक सुखद अनुभूति होती है। यह भी स्पष्ट होता है कि राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़ कर ये छात्र अपने समाज में मौजूद विभिन्न समस्याओं को न केवल नज़दीक से समझ रहे हैं, बल्कि उनका निराकरण करने के लिये भी उत्साहित भी हैं।  बच्चों और बुज़ुर्गों को साक्षरता के लिये न केवल उत्साहित व प्रेरित करना बल्कि उनको पढ़ाना भी ऐसा ही एक कार्य है जिसे करते हुए ये युवा बड़ा आनन्दित हो रहे हैं। दूसरों को शिक्षा के लिये प्रेरित करते हुए यह तो स्वाभाविक ही है कि ये स्वयं भी अपनी शिक्षा के प्रति और अधिक गंभीर हो रहे हैं।   इसी प्रकार स्वच्छ भारत के स्वप्न को साकार करने के लिये महाराज सिंह कालिज के ये छात्र-छात्राएं अपने प्रोग्राम ऑफिसर डा. दिनकर मलिक व डा.पूनम यादव के साथ गांव की गलियों में जाते हैं, गांव वासियों को अच्छे स्वास्थ्य के लिये सफाई की आवश्यकता और महत्व समझाते हैं और झाड़ू लेकर खुद भी सफाई में जुट जाते हैं।

यहां गांव में सुबह 9 बजे से अपराह्न 4 बजे तक चलने वाली इनकी दिनचर्या का शुभारंभ होता है –  योग क्रियाओं के अभ्यास से! हलासन, वज्रासन, सूर्य नमस्कार, ऊष्ट्रासन, पद्मासन का अभ्यास करने के बाद विभिन्न विषयों पर सारगर्भित चर्चा चलती है जिसमें सभी स्वयंसेवक छात्र-छात्राएं खुल कर अपने आप को अभिव्यक्त करते हैं।  सांस्कृतिक गतिविधियों में भी ये स्वयंसेवक पीछे नहीं हैं।  टोलियां बना बना कर विभिन्न समस्याओं का समाधान सुझाने के लिये नुक्कड़ नाटक लिखना, उसे गांव वालों के सामने मंचित करना भी ऐसा ही एक प्रभावी कार्यक्रम है जो यहां पर नित्य चलता है।

ठोस कचरा प्रबन्धन की जानकारी देते हुए सुशान्त सिंहल व नीना धींगड़ा !

शिविर के दौरान द सहारनपुर डॉट कॉम के अध्यक्ष और मुख्य संपादक सुशान्त सिंहल व उपाध्यक्ष श्रीमती नीना धींगड़ा को भी अवसर मिला कि वह इस शिविर में चल रही गतिविधियों को स्वयं आकर देखें और स्मार्ट सिटी सहारनपुर और ठोस कचरा प्रबन्धन के बारे में भी उनको बतायें ताकि स्वच्छ भारत के स्वप्न को साकार करने में उनको मदद मिले।

ग्राम प्रधान इज़हार तौसीफ, और तनवीर अहमद जैसे लोग इस आयोजन से अत्यन्त प्रसन्न हैं और उनको लगता है कि सिर्फ फोटो खिंचवाने के लिये आने वाले नेताओं से भले ही वह अब निराश हो चुके हों, परन्तु ये युवा पीढ़ी उनको निराश नहीं करेगी। मानसी, आकाश, अंशुल, गौरव, शुभम, जोजिया, आकाश वीर, अंकुर, पारस, शिवानी, रवि कुमार, विमल, विकास, प्रद्युम्न, मोनू कुमार, हर्ष, अवध सैनी, कनुप्रिया, नितीश, हिना परवीन, मनस्वी, जया आदि स्वयंसेवकों ने शपथ ली है कि वह इस शिविर के समापन के बाद भी चुप होकर घर नहीं बैठ जायेंगे बल्कि जो कुछ अनुभव और ज्ञान उन्होंने गुरुजनों के सान्निध्य में इस शिविर के दौरान हासिल किया है, वह सब अपने आस-पास के क्षेत्रों में भी बांटते रहेंगे क्योंकि आने वाला कल बेहतर हो, यह उनके अपने ही हित में है।  इन युवाओं को हमारी ओर से भी हार्दिक शुभ कामनाएं व सफलता हेतु शुभ आशीष !

ठोस कचरा प्रबन्धन की जानकारी देते हुए सुशान्त सिंहल व नीना धींगड़ा !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY