खेलभावना आ गई तो समझो जीवन जीने की कला आगई !

मिनी ओलंपिक के आयोजन कर्त्ता जिला ओलंपिक संघ के अध्यक्ष संजय गर्ग से इस आयोजन को लेकर हुई बातचीत

3
681
10/07/2015 School Mini Olympics at Stoke Mandeville Stadium By Anita Ross Marshall for News

संपादक – सहारनपुर में जिला ओलंपिक संघ के बैनर तले मिनी ओलंपिक होने जा रहे हैं।  जिला ओलंपिक संघ के अध्यक्ष के नाते कृपया इस आयोजन के बारे में द सहारनपुर डॉट कॉम के पाठकों को बताएं !

संजय गर्ग – आगामी 12 से 18 नवंबर तक सहारनपुर में नयी खेल प्रतिभाओं की खोज व उनमें निहित संभावनाओं का देश हित में उपयोग करने के लिये मिनी ओलंपिक का आयोजन किया जा रहा है जिसमें 22 वर्ष तक की आयु के 11,000 किशोर व युवा खिलाड़ी छात्र-छात्राएं भाग लेंगे।  इस आयोजन को सफल बनाने के लिये जिला ओलंपिक संघ, जिला खेलकूद प्रोत्साहन समिति, जनपद में सक्रिय अनेकानेक खेल संस्थाएं, डा. अम्बेदकर स्पोर्ट्स स्टेडियम सहारनपुर व नगर के विभिन्न स्कूल मिल कर एक टीम के रूप में जुटे हुए हैं।  दि. 10 व 11 नवंबर को नगर के विभिन्न स्कूलों के खिलाड़ी मिनी ओलंपिक की मशाल लेकर इस खेलभावना का संदेश लेकर सहारनपुर के कोने – कोने में जायेंगे।  दिनांक 12 नवंबर को प्रातः स्पोर्ट्स स्टेडियम में रंगारंग कार्यक्रम के साथ मंडलायुक्त श्री एम.पी. अग्रवाल द्वारा मिनी ओलंपिक 2016 के औपचारिक उद्घाटन के साथ ही विभिन्न प्रतिस्पर्द्धाएं आरंभ हो जायेंगी।

संपादक – कौन – कौन से खेल इस मिनी ओलंपिक में शामिल किये गये हैं? 
calendar2संजय गर्ग – ओलंपिक में शामिल खेलों को ही इस मिनी ओलंपिक में शामिल किया गया है – जैसे एथलेटिक्स में 100, 200, 400, 800, 1000, 1500 व 5000 मीटर की दौड़, लॉंग जंप, डिस्कस थ्रो वगैरा शामिल हैं।  इसके अलावा बैडमिंटन, टेबिल टेनिस, बास्केट बॉल, बॉडी बिल्डिंग, बॉक्सिंग, कुश्ती, साइक्लिंग, शतरंज, फुटबॉल, हॉकी, हैंड बॉल, जुडो, कबड्डी, खो खो, शूटिंग, ताइक्वांडो, वुशु, वॉलीबॉल, भारोत्तोलन आदि प्रतिस्पर्द्धा आयोजित की जा रही हैं।

calendar2संपादक – क्या ये सारी की सारी प्रतिस्पर्द्धाएं स्टेडियम में ही आयोजित की जाने वाली हैं? 

संजय गर्ग – नहीं, सहारनपुर के विभिन्न महाविद्यालयों व विद्यालयों ने भी इन प्रतियोगिताओं के आयोजन की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली है।  जहां एक ओर स्टेडियम में अनेक प्रतियोगिताएं आयोजित की जाने वाली हैं, वहीं दूसरी ओर जे.वी. जैन डिग्री कॉलेज, महाराज सिंह कॉलेज के अलावा सैंट मेरीज़ एकेडमी मिशन कंपाउंड, सेंट मेरीज़ स्कूल हलालपुर, सरस्वती विद्या मंदिर लालदास रोड, इस्लामिया इंटर कालेज, ज्ञानकलश इंटरनेशनल स्कूल, रिमाउंट ट्रेनिंग स्कूल व डिपो आदि में उपलब्ध संरचनागत सुविधाओं को देखते हुए वहां पर भी अनेक प्रतिस्पर्द्धाएं आयोजित की जायेंगी। किस तिथि में, किस स्थान पर, कितने बजे कौन सी प्रतिस्पर्द्धा आयोजित की जाने वाली है, इसका कलेंडर प्रकाशित किया जाचुका है जिसमें आयोजकों के नाम व उनके फोन नंबर भी दिये गये हैं।  यह सारा आयोजन माननीय मंडलायुक्त श्री एम.पी. अग्रवाल के संरक्षण में तथा जिला ओलंपिक संघ के सचिव डा. अशोक कुमार गुप्ता व क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी श्री अजय कुमार सेठी के संयुक्त निर्देशन में किया जा रहा है जिनको शहर की सभी खेल संस्थाएं पूरा सहयोग दे रही हैं।  इतना विशाल आयोजन जिसमें 11000 खिलाड़ियों के भाग लेने की आशा की जा रही हो, कोई एक संस्था या व्यक्ति द्वारा किया जाना संभव नहीं है।  पूरा जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, आई.एम.ए., शिक्षा विभाग आदि का इसमें मन, वचन कर्म से सहयोग है।  जनता भी खिलाड़ियों द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन को देखने व उनका उत्साह बढ़ाने के लिये भारी संख्या में आयोजन स्थलों पर पहुंचेगी, यह हमें विश्वास है।

संपादक– हमें लगता है कि इतने बड़े आयोजन में से कुछ ऐसी छिपी हुई खेल प्रतिभाएं अवश्य निकल कर सामने आयेंगी जो आने वाले दशक में हमारे देश के स्टार खिलाड़ी के रूप में उभर कर सामने आ सकते हैं।

संजय गर्ग – वास्तव में हम सब का उद्देश्य भी यही है।  सवा सौ करोड़ नागरिकों के इस देश में ऐसे खेल आयोजन हर शहर और हर जनपद में होने चाहियें ताकि हम छोटे – बड़े शहरों व गांवों में छिपी प्रतिभाओं को तलाश सकें, तराश सकें। वैसे भी, यदि देश के हर नागरिक में खेल भावना का विकास किया जा सके ताकि वह जीत व हार को सहज रूप में स्वीकार कर सके, जीतने वाले प्रतिद्वन्द्वी की पीठ थपथपा सके, उसे शुभ कामनाएं और बधाई दे सके तो जीवन जीने की कला का एक बहुत महत्वपूर्ण अध्याय उसे समझ में आ जायेगा।

संपादक– सहारनपुर में इस आयोजन के लिये कुछ संरचनागत विकास भी किया जा रहा है क्या? 

संजय गर्ग – हमें उम्मीद है कि इस मिनी ओलंपिक के सफल आयोजन की गूंज दूर – दूर तक जायेगी और हमारी सरकार इस जनपद में खेल सुविधाओं के विस्तार के लिये कुछ नीतिगत निर्णय अवश्य लेंगी।  पर सुविधाओं के विस्तार से पहले हमें यह भी तो सुनिश्चित करना चाहिये कि वर्तमान सुविधाओं का भरपूर दोहन किया जाये और इन सुविधाओं की पहुंच हर किसी तक हो सके।  अभी तो जो सुविधाएं उपलब्ध हैं उनका भी भरपूर इस्तेमाल हम नहीं कर रहे हैं। पूरे साल स्टेडियम व स्कूल- कालेजों में उपलब्ध सुविधाओं का भरपूर इस्तेमाल हो सके ऐसा वातावरण हमें बनाना चाहिये।

संपादक– क्या इस आयोजन के लिये कुछ अन्तर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त स्टार खिलाड़ियों को भी आमंत्रित किया जा रहा है ताकि उनकी उपस्थिति हमारे युवाओं को प्रेरित कर सके, उत्साहित कर सके? 

संजय गर्ग – जी, ऐसा प्रयास चल रहा है।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY